स्पेन में जवाला मुखी से गिरा तीन मंजिला ऊंचा लावा का टुकड़ा (Three-storey high lava piece fell from volcano in Spain)

स्पेन के आईलेंड ला पाल्मा में रविवार को अचानक एक तीन मंजिल बिल्डिंग जितना ऊंचा लावा का ब्लोक गिरने से तबाही मच गई | यह लावा का ब्लोक ज्वालामुखी विस्फोट के तीन हफ्ते बाद लुडक कर नीचे आया | उस जगह रविवार को 21 सिस्मिक ( siesmic ) की हलचल महसूस की गई , स्पेनिश नेशनल जियोलाजिकल इंस्टिट्यूट ( ING ) के अनुसार माजो गाँव में इसकी तीव्रता 3.8 मापी गई थी |  इसकी वजह से लाल गर्म लावा के टुकड़े cumbre vieja ज्वालामुखी से फिसल कर बाहर आने लगे , और यह लावा के टुकड़े किसी तीन मंजिला बिल्डिंग से भी ऊंचे थे |

सोमवार को स्पेनिश नेवी की मदद से ज्वालामुखी की राख को साफ़ कियागया , जो की आइलैंड पर चारो तरफ फ़ैल गया था | गर्म लावा जिसका तापमान उस वक्त लगभग 1240 डिग्री था , बहकर शहर की सडको तक पहुँच गया , जिसकी वजह से शहर में मौजूद कुछ बिल्डिंग को काफी नुक्सान हुआ | सुरक्षा की द्रष्टि से इन सभी इमारतो को पहले ही खाली करवा लिया गया था |

ला पाल्मा द्वीप से भाकर लावा अटलान्टिक महासागर तक पहुँच गया है , यूरोपीय संघ ने बताया की इस लावा से 400 बिल्डिंग पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है | इसके अलावा पश्चिमी भाग की तरफ कई घरो को नुकसान हुआ है जहाँ 85, 000 लोग रहते हैं |

ज्वाला मुखी विस्फोट की कई तस्वीरे सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रही है , जिनमे आसमान में उठते धुए के गुबार को साफ़ साफ देखा जा सकता है | पूरा आसमान काले और सफ़ेद रंग के धुए से भरा हुआ नज़र आ रहा है | वही रात का मंजर तो और भी अधिक खतरनाक नज़र आ रहा है , चारो तरफ धुआं और लाल रंग की रौशनी फैली हुई नज़र आ रही है .| लगातार हो रहे विस्फोटो की वजह से उस जगह को पूरी तरह खाली करवा लिया गया है , यहाँ तक की सुरक्षा कर्मियों को भी वहां से वापस बुला लिया गया है | ज्वाला मुखी में हुए विस्फोट की वजह से लावा बहकर पानी के पास तक पहुँच चूका है , और ज्वाला मुखी विस्फोट की वजह से होने वाले गैस रिसाव की वजह से चिंता और भी ज्यादा बढ़ गई है | यह ज्वालामुखी 19 सितम्बर को फटा था और तब से अब तक लगातार उसम से लावा बह रहा है |

इससे पहले यह ज्वालामुखी 1971 में फटा था , तब भी इसकी वजह से काफी नुक्सान हुआ था | ऐसी आशंका है की ज्वालामुखी विस्फोट की वजह से भूकम्प का खतरा कई गुना बढ़ गया है | इसके अलावा पहाड़ो से चट्टानों के गिरने का अंदेशा भी बना रहता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *